रायबरेली: महिला का शव सड़क पर रखकर किया विरोध प्रदर्शन, पुलिस पर लगा गंभीर आरोप, सीओ सिटी ने बताया...

रायबरेली: महिला का शव सड़क पर रखकर किया विरोध प्रदर्शन, पुलिस पर लगा गंभीर आरोप, सीओ सिटी ने बताया...

ब्यूरो रिपोर्ट : राजन प्रजापति, रायबरेली

रायबरेली: महिला का शव सड़क पर रखकर किया विरोध प्रदर्शन, पुलिस पर लगा गंभीर आरोप, सीओ सिटी ने बताया...

रायबरेली। शहर कोतवाली क्षेत्र के इंदिरा नगर में रविवार को उस समय अफरा तफरी मच गई जब संदिग्धवस्था में मृत महिला के शव को सड़क पर रख कर सड़क मार्ग को अवरुद्ध कर दिया और मृतका की हत्या किए जाने की बात कहते हुए पुलिस पर कार्यवाही न करने का आरोप लगाने लगे। मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई। इसी बीच सूचना मिलते ही मौके पर सीओ सिटी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुच गए और स्थानीय लोगो के साथ मिलकर परिजनो को समझा बुझाकर शांत कराया और शव को कब्जे में लेकर परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू करा दी।

सड़क पर सफेद चादर में लिपटा हुआ ये शव प्रीति का है। जिसका विवाह हो चुका था और उसके दो बच्चे थे लेकिन कई सालों से वो अपने पति से अलग मायके शहर कोतवाली के मटिहा गांव में रह रही थी। अपनी  गुजर बसर के लिए वो इंदिरा नगर कालोनी में निवास कर रहे एक बैंक मैनेजर के यंहा खाना बनाने का काम करती थी। रोज की भांति वो कल भी घर से काम करने के लिए निकली थी।जब देर रात तक वो घर नही लौटी।इसी बीच जंहा वो काम करती थी वही पर रहने वाले लवकुश नाम के युवक ने परिजनों को फोन कर बताया कि प्रीति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। ये सुनते ही परिजन दौड़ कर मौके पर पहुचे तो उन्हें प्रीति का शव बेड पर पड़ा हुआ मिला और उसके गले पर निशान भी दिखे। लेकिन सूचना पर पहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया और मृतका के पिता से एक सादे कागज पर अंगूठा लगवा लिया। आज पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया। लेकिन परिजनों ने बैंक मैनेजर व लवकुश पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए पुलिस के कार्यवाही न करने से नाराज होकर शव को सड़क पर रखकर इंदिरा नगर नेहरू नगर सड़क मार्ग जाम कर दिया।फिलहाल स्थानीय लोगो व उच्चाधिकारियों के समझाने व उनकी तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज करने के बाद परिजन शव के अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हुए। मौके पर मौजूद सीओ सिटी महिपाल पाठक ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है पुलिस पर लगाये गए आरोप झूठे है। मामले की जांच की जा रही है।