क्राइम: पुलिस पर आरोप लगाने में माहिर व्यापारी नेता रिंकू जायसवाल की पुलिस ने खोली पोल, तेजतर्रार व न्याय प्रिय कोतवाल पर नही बना पाए दबाव तो लगा दिया आरोप, पुलिस ने खोले कई राज

क्राइम: पुलिस पर आरोप लगाने में माहिर व्यापारी नेता रिंकू जायसवाल की पुलिस ने खोली पोल, तेजतर्रार व न्याय प्रिय कोतवाल पर नही बना पाए दबाव तो लगा दिया आरोप, पुलिस ने खोले कई राज

ब्यूरो रिपोर्ट : राजन प्रजापति, रायबरेली

रायबरेली यूपी। रायबरेली जनपद के महराजगंज कस्बा में इन दिनों पुलिस पर आरोप लगाने में माहिर रिंकू जायसवाल व उनकी पत्नी अंजू जायसवाल चर्चा में है।

आपको बता दें खुद रिंकू जायसवाल एक दर्जन सवालों के घेरे में घिरते नजर आ रहें है यह हम नही कह रहें है किये हुए कारनामे व अपराध बता रहें है। तिल का ताड़ बनाने व पुलिस पर दबाव बनाने का सिलसिला आखिर कब खत्म होगा इस व्यापारी नेता द्वारा विगत कई वर्षों से पुलिस पर झूठा आरोप लगाते नजर आ रहें है इससे पहले भी पुलिस अधीक्षक को फर्जी ज्ञापन दिया था जिसका जमकर विरोध हुआ था और पुलिस पर झूठा आरोप लगाया था एक बार फिर पुलिस पर आरोप लगाया है।

ये है पूरा मामला : मिली जानकारी के अनुसार अंजू जायसवाल पत्नी रिंकू जायसवाल निवासी कस्बा महराजगंज की बहन बबली पत्नी प्रदीप जायसवाल निवासी महराजगंज कस्बा की जेठ दिलीप व जेठानी गुड़िया निवासी कस्बा महराजगंज का मध्य पारिवारिक विवाद है। अंजू जायसवाल की बहन बबली जायसवाल स्वयं अपना कपड़ा फाड़कर अपने पति प्रदीप जायसवाल के साथ अपने जेठ दिलीप पर छेड़छाड़ का झूठा मुकदमा लिखवाने आयी थी। पति प्रदीप से पूछताछ कर प्रदीप जायसवाल ने बताया कि ऐसी कोई बात नहीं है केवल पुनः बिजली और पानी को लेकर विवाद है, लेकिन मौके पर जाने पर पता चला कि बबली के यहां बिजली कनेक्शन है ही नहीं। मौके पर कर्मचारीगण को भेजकर बहुत बार प्रयास किया गया कि बबली व उसके पारिवारिक सदस्यों का आपस में सुलह समझौता करा दिया जाये, लेकिन अंजू जायसवाल के कारण समझोता नहीं हो पा रहा था। दिनांक 16.07.2021 को दोनों पक्ष थाने पर उपस्थित हुए थे दोनों पक्षों को समझाया गया लेकिन अंजू जायसवाल की उपस्थिति के कारण विवाद बढ़ने लगा।वहीं जून माह में अंजू जायसवाल द्वारा अपने पति रिंकू जायसवालव अपने सास व ननद के विरूद्ध एक प्रार्थना पत्र दिया था जिसमें अंजू द्वारा अपनी ननद व सास व पति रिंकू के साथ थाने पर ही गाली-गलौज करने लगी थी।

रायबरेली पुलिस ने खोल दी षडयंत्र की पोल :

​​धारा 308/452/323/504/506 भादवि बनाम चांदबाबू उर्फ मोटू पुत्र आशिक अली निवासी वार्ड नं0 3 आर्य नगर कस्बा रायबरेली लिखवाया गया था। मुकदमा उपरोक्त में विवेचक द्वारा धारा 308 का विलोपन किया गया है तथा घटना दुकान पर मारपीट होना बताया था।

महराजगंज कोतवाली में दर्ज है अपराध :

रिंकू जायसवाल द्वारा दिनांक 29.08.2014 को कस्बा महराजगंज में अपने साथियों के साथ मिलकर अराजकता का माहौल व्याप्त किया गया तथा लोक जनमानस व्यवस्था भंग की गयी। धारा 188/143/145/283/341/505 आईपीसी व 7 सीoएलoएo एक्ट में अभियोग पंजीकृत है।

 वहीं पुलिस सहायता केन्द्र पर फलों की ठेलियां लगवाकर पुलिस सहायता केन्द्र व राजमार्ग को अवरूद्ध कर रहा था व हटाये जाने हेतु कहने पर अपने साथियों के साथ मिलकर पुलिस विरोधी नारे लगाये तथा पुलिस पर हमलावर हुए थे। धारा 147/352/341/332 आईपीसी व 7 सी0एल0ए) एक्ट में अभियोग पंजीकृत है।

महराजगंज कोतवाली में दर्ज है कई अपराध : धारा 147/341 आईपीसी व 3/7 यूनाईटेड स्पेशल पावर एक्ट थाना महराजगंज, धारा 188/143/145/283/341/505 आईपीसी व 7 सी0एल०ए0 एक्ट, धारा 147/352/341/332 आईपीसी व 7 सी0एल0ए० एक्ट थाना महराजगंज, धारा 147/341/353/188/506 आईपीसी थाना महराजगंज।

तेजतर्रार व न्याय प्रिय कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रेखा सिंह की निष्पक्ष कार्यशैली को हजम नही कर पा रहें व्यापारी नेता ने एकबार फिर पुलिस को बदनाम करने का उठाया कदम। पहले भी लगा चुके है पुलिस पर झूठा आरोप कोतवाली में दाल ना गलती देख लगा दिया आरोप। व्यापारी व क्षेत्र की जनता भी ऐसे नेता को जवाब देने को तैयार।