शिक्षा: स्वदेश सरस्वती शिशु मंदिर का शिक्षा के क्षेत्र में व समाज के प्रति अपना अभूतपूर्व योगदान हमेशा रहा: दिनेश कुमार अवस्थी

शिक्षा: स्वदेश सरस्वती शिशु मंदिर का शिक्षा के क्षेत्र में व समाज के प्रति अपना अभूतपूर्व योगदान हमेशा रहा: दिनेश कुमार अवस्थी

ब्यूरो रिपोर्ट: राजन प्रजापति

शिक्षा: स्वदेश सरस्वती शिशु मंदिर का शिक्षा के क्षेत्र में व समाज के प्रति अपना अभूतपूर्व योगदान हमेशा रहा: दिनेश कुमार अवस्थी

महराजगंज रायबरेली।

►कस्बा स्थित स्वदेश सरस्वती शिशु मंदिर का शिक्षा के क्षेत्र में व समाज के प्रति अपना अभूतपूर्व योगदान हमेशा से रहा है।

►बताते चलें 01 सितंबर से स्कूल खोलने की तैयारी है विद्यालय ने अभिभावकों से संपर्क कर बच्चों को स्कूल भेजने की अपील किया है। प्रधानाचार्य दिनेश कुमार अवस्थी ने बताया वर्तमान में शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी भाषा होने से इस विद्यालय का महत्व अधिक बढ़ता जा रहा है इस विद्यालय में शिक्षा के अतिरिक्त संस्कारों पर विशेष ध्यान दिया जाता है साथ-साथ शारीरिक शिक्षा, कंप्यूटर शिक्षा एवं सभ्यता की प्रतीक संस्कृत शिक्षा का भी एक अलग स्थान है। विद्यालय सभी आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण है शांति में वातावरण तथा अनुभवी अध्यापकों द्वारा शिक्षण कार्य बालक के सर्वांगीण विकास में सहायक है। शिक्षण कार्य 01 सितंबर 2021 से प्रारंभ हो रहा है सभी क्षेत्रवासियों से निवेदन है कि अपने बच्चों को समुचित देखरेख में शिक्षण एवं विकास हेतु इस विद्यालय में अवश्य प्रवेश करें। शासन के आदेश के मुताबिक 01 सितंबर से सभी परिषदीय और निजी स्कूलों को ऑफलाइन कक्षाओं को लिए खोल दिया जाएगा इसके लिए स्कूलों को आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं स्वदेश सरस्वती शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य दिनेश कुमार अवस्थी, प्रबंधक रणजीत सिंह, कोषाध्यक्ष फत्ते सिंह ने सभी अभिभावकों से अपील किया है काफी समय बाद स्कूल को खोलने की तैयारी है अपने अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजें। जिससे शिक्षा का कार्य कराया जा सके। कोविड-19 के चलते बच्चों की पढ़ाई पर काफी असर पड़ा है।