अर्नब के समर्थन में आया इंदौर जर्नलिस्ट एसोसिएशन, देश के कई हिस्सों में महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ हो रहा लगातार प्रदर्शन

अर्नब के समर्थन में आया इंदौर जर्नलिस्ट एसोसिएशन, देश के कई हिस्सों में महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ हो रहा लगातार प्रदर्शन

जागरण टाइम्स न्यूज़
Www.jagrantimesnews.com

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को मुंबई पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किए जाने की चारों ओर आलोचना हो रही है। देश के कई हिस्सों में महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी हो रहे हैं। वहीं अर्नब के समर्थन में इंदौर जर्नलिस्ट एसोसिएशन आया है।
इंदौर जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की महाराष्ट्र सरकार की आलोचना आपको बता दें, एसोसिएशन ने अर्नब की गिरफ्तारी की तीखी आलोचना की है। बयान में अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा गया है कि, 'अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है। महाराष्ट्र सरकार के इस कायराना कृत्य की सम्पूर्ण पत्रकार जगत ने निंदा की है।' 
''देश के विभिन्न मीडिया समूहों से जुड़े पत्रकारों पर लगातार हो रही पुलिस कार्रवाई से हम डरने वाले नहीं हैं। हम अपने दायित्वों के निर्वाह में जेल जाने से नहीं डरेंगे।' 
इससे पहले दिल्ली में भी कई पत्रकारों और सेना के पूर्व अधिकारियों ने अर्नब की गिरफ्तारी का विरोध किया। दिल्ली में अर्नब के समर्थन में मशाल जुलूस भी निकाली गई।
इस दौरान प्रदर्शन में शामिल पत्रकार ने कहा कि 'अगर आपको तानाशाही देखनी है तो महाराष्ट्र में देखिए। पूरा हिंदुस्तान एक तरफ है लेकिन महाराष्ट्र एक तरफ है। महाराष्ट्र में हिटलर शाही है तानाशाही है। उद्धव सरकार, सोनिया गांधी और राहुल गांधी जिस तरह से पत्रकारों पर हमले कर रहे हैं वह शर्मनाक है। आप दिल्ली में बैठकर ये बोलते हैं कि लोकतंत्र की हत्या हो रही है। जबकि लोकतंत्र की कहीं हत्या हो रही है तो वह महाराष्ट्र है।'
गौरतलब है कि अर्नब गोस्वामी को बुधवार सुबह बिना समन जबरन गिरफ्तार कर लिया गया। कुछ पुलिस अधिकारी उनके आवास पर पहुंचे और बिना किसी दस्तावेज के, उनके घर के अंदर घुसकर उनके साथ मारपीट की। इसके बाद मुंबई पुलिस ने उन्हें बिना किसी पूर्व सूचना के एक पुराने केस में गिरफ्तार कर लिया।